छतों से भी बरसाए गए पत्थर, पुलिस को पड़े जान बचाने के लाले, आरएएफ ने संभाला मोर्चा तो पीछे हटे हमलावर

Share this post

भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा के बयान को लेकर प्रयागराज में शुक्रवार को जमकर बवाल हुआ। जुमे की नमाज के बाद अटाला में जुटी हजारों की भीड़ ने जमकर उपद्रव किया। पुलिस पर पथराव के साथ ही बमबाजी व आगजनी की। पुलिस प्रशासन की दर्जनों गाड़ियों में तोड़फोड़ की, पीएसी की गाड़ी समेत आठ वाहन फूंक दिए। हमले में आईजी समेत 18 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। पुलिस व आरएएफ ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ना शुरू किया, तब जाकर तीन घंटे बाद बवाल शांत हुआ। अटाला बवाल के मामले में पुलिस की ओर से कुल तीन मुकदमे देर रात तक दर्ज किए गए थे। इनमें से दो खुल्दाबाद व एक करेली थाने में लिखी गई। तीनों मुकदमों में कुल मिलाकर 36 लोगों को नामजद किया गया है। यह सभी 36 लोग देर रात तक करेली, खुल्दाबाद के अलग-अलग इलाकों से गिरफ्तार किए गए। एक हजार अज्ञात हमलावरों को भी आरोपी बनाया गया है। अज्ञात आरोपियों को वीडियो व सीसीटीवी फुटेज से चिह्नित किया जा रहा है। बवाल के दौरान गलियों के साथ ही आसपास स्थित कुछ घरों से भी पत्थर बरसाए गए। दरअसल फोर्स के खदेड़ने पर पथराव कर रहे बहुत से युवक  गलियों में स्थित कुछ घरों में जाकर छिप गए। इसके बाद तो छतों से भी पत्थर बरसाए गए। ऊंचाई से पत्थर बरसने की वजह से पुलिसकर्मियों को भी बैकफुट पर आना पड़ा। इस दौरान पत्थर लगने से कुछ पुलिसकर्मी चोटिल भी हुए। जिसके बाद एंबुलेंस बुलवाकर उन्हें अस्पताल भेजा गया। खास बात यह थी कि मकानों के सटे होने के चलते हमलावर एक से दूसरी छत पर जाकर भी हमला बोलते रहे। हालांकि जब पुलिस ने इन मकानों में रहने वालों से पूछताछ की तो उन्होंने हमलावरों के बारे में जानकारी होने से इंकार किया। यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि हमलावर उनकी छतों पर कैसे पहुंचे। गलियों में हो रही पत्थरबाजी से पुलिस को कई बार बैकफुट पर आना पड़ा। उपद्रवी छिपकर पुलिस पर पथराव कर रहे थे तो पुलिसकर्मी भी उनकी तरफ पत्थर फेंककर उनके हमले का जवाब देते रहे। हालात संभालने में जब पुलिस सफल नहीं हो पाई तो अफसरों के निर्देश पर आरएएफ के जवानों ने मोर्चा संभाला। बॉडी प्रोटेक्टर व हेलमेट के साथ ही अत्याधुनिक असलहों से लैस आरएएफ के जवान आगे बढ़े तो हमलावर कुछ पीछे हटे। पत्थरबाजी भी कुछ धीमी हुई। इसके बाद आरएएफ, पुलिस व पीएसी के जवानों ने मिलकर उपद्रवियों को खदेड़ा। उधर मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रयागराज के साथ-साथ आसपास के जिलों से भी फोर्स बुलाई गई है। पुलिस अफसरों ने बताया कि कौशाम्बी, प्रतापगढ़, फतेहपुर के साथ ही चित्रकूट जनपद की भी फोर्स को मौके पर बुलाया गया है। फोर्स को तीन शिफ्टों में 24 घंटे तैनात किया जाएगा। सर्विलांस कैमरों की मदद से इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर में बैठे पुलिसकर्मी अटाला व आसपास के इलाकों की 24 घंटे मॉनिटरिंग में लगे हुए हैं। पीएएस सिस्टमों से लगातार अपील की जा रही है कि किसी भी हाल में लोग माहौल न बिगड़ने दें। 

Report- Akanksha Dixit.

uv24news
Author: uv24news

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live