लिंगायतों को लुभाने की राजनीति! बागलकोट के कुदालसंगम पहुंचे राहुल गांधी

Share this post

बागलकोट जिले में कृष्णा नदी और मालाप्रभा के किनारे स्थित कुदालसंगम, लिंगायत समुदाय के सबसे बड़े तीर्थस्थलों में शामिल है। कुदालसंगम में लिंगायत समुदाय के सबसे बड़े गुरु और लिंगायत समुदाय के संस्थापक बस्वेश्वरा, जिन्हें बासवन्ना के नाम से भी जाना जाता है, उनका समाधि स्थल है। कर्नाटक चुनाव के लिए चुनाव प्रचार चरम पर है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी कर्नाटक चुनाव में प्रचार के लिए दो दिवसीय दौरे पर रविवार को बागलकोट पहुंचे। यहां राहुल गांधी ने संगमनाथ मंदिर और कुदालसंगम तीर्थस्थल का दौरा किया और पूजा अर्चना की। राहुल गांधी के संगमनाथ मंदिर और कुदालसंगम तीर्थस्थल के दौरे को लिंगायत समुदाय को लुभाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि राहुल गांधी दिल्ली से कर्नाटक के हुबली पहुंचे और फिर हुबली से हेलीकॉप्टर से कुदाल संगम और संगमनाथ मंदिर पहुंचे और वहां दर्शन किए। बागलकोट जिले में कृष्णा नदी और मालाप्रभा के किनारे स्थित कुदालसंगम, लिंगायत समुदाय के सबसे बड़े तीर्थस्थलों में शामिल है। कुदालसंगम में लिंगायत समुदाय के सबसे बड़े गुरु और लिंगायत समुदाय के संस्थापक बस्वेश्वरा, जिन्हें बासवन्ना के नाम से भी जाना जाता है, उनका समाधि स्थल है।

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live