मुख्यमंत्री योगी बोले- आज नौकरियों में भाई-भतीजावाद नहीं, पारदर्शी चयन होता है

Share this post

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्षों के दो दिवसीय सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने प्रदेश में बदले माहौल पर भर्तियों के लिए किए गए बदलाव पर चर्चा की। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश अपनी विशेषता के साथ संभावनाओं के लिए भी जाना जाता है। यूपी में अब नौकरियों में भेदभाव नहीं होता। पारदर्शी चयन से प्रतियोगी चुने जाते हैं। आज प्रदेश की कानून-व्यवस्था नजीर है। ईद की नमाज सड़क पर नहीं ईदगाह में पढ़ी जा रही है। मुख्यमंत्री शनिवार को पुलिस मुख्यालय में राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्षों के दो दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, राजनीति में अच्छे और खराब दोनों दौर आते हैं। यूपी को भी इससे गुजरना पड़ा है। राजनीतिक संक्रमण का एक दौर वह भी आया था, जब उत्सवों, महत्सवों के लिए जाने जाने वाले इस प्रदेश को उपद्रव में बदल दिया था। कुछ साल पूर्व तक यह प्रदेश माफियाओं के गिरफ्त में जकड़ा हुआ था। किंतु, जब नौ साल पहले पीएम मोदी ने देश का नेतृत्व संभाला तो यूपी में भी छटपटाहट हुई। छह साल से यहां भी बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि पहले राज्य लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, चयन बोर्ड, पुलिस भर्ती की परीक्षा में शिकायतों का अंबार था। सैकडों केस चल रहे थे। 1.50 लाख पुलिस के पद खाली थे। भर्तियों में भाई भतीजावाद, जातिवाद था। सामाजिक न्याय का मुखौटा लगाकर योग्यता और प्रतिभा के साथ अन्याय होता था। हमने भर्ती प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया। इसमें भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं है। अच्छे, ईमानदार अधिकारी तैनात किए। छह साल में 1.64 लाख पुलिस भर्ती की, जिसमें सभी 75 जिलों को प्रतिनिधित्व मिला है।

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live