राहुल ने अदाणी को लेकर फोड़ा नया बम, क्यों कहा कि खतरे में है भारत का मिसाइल एवं रडार सिस्टम

Share this post

रिपोर्ट के अनुसार, अदाणी डिफेंस फर्म ‘एल्फा डिजाइन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड (एडीटीपीएल) में इलारा कंपनी सह-मालिक है। इलारा का अदाणी समूह की तीन कंपनियों में लगभग 9000 करोड़ रुपये का निवेश बताया जाता है। यह पार्टनरशिप, दिसंबर 2022 तक इसके कुल कॉपर्स का 96 फीसदी है राहुल गांधी ने बुधवार को स्वदेश लौटते ही अदाणी समूह को लेकर एक नया बम फोड़ दिया है। उन्होंने भारत के मिसाइल और रडार अपग्रेड अनुबंध को लेकर किए अपने ट्वीट में केंद्र सरकार पर निशाना साधने की कोशिश की है। राहुल गांधी ने लिखा, भारत का मिसाइल और रडार अपग्रेड कांट्रैक्ट, अदाणी के स्वामित्व वाली एक कंपनी एवं संदिग्ध विदेशी संस्था ‘इलारा’ को दिया गया है। राहुल ने सवाल करते हुए लिखा, ‘इलारा को कौन नियंत्रित करता है’। अज्ञात विदेशी संस्थाओं को देश के रणनीतिक रक्षा उपकरणों का नियंत्रण देकर भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता क्यों किया जा रहा है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में एक राष्ट्रीय अखबार की खबर का हवाला दिया है। अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, मॉरीशस की कंपनी ‘इलारा कैपिटल’ अदाणी डिफेंस फर्म में सह मालिक है। इस कंपनी के बारे में बताया जाता है, यह कंपनी अदाणी समूह के मुख्य निवेशकों में से एक है। ये वही कंपनी है, जिसका पिछले दिनों हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट में भी नाम देखने को मिला था। हिंडनबर्ग रिसर्च रिपोर्ट पर बजट सत्र के पहले चरण में संसद में जबरदस्त हंगामा हुआ था। अब दूसरे चरण के सत्र में भी हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस एवं दूसरे विपक्षी दलों द्वारा अदाणी मामले की जांच के लिए जेपीसी के गठन की मांग की जा रही है।

Report- Akanksha Dixit

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live