जिस मोहल्ले में करियर शुरू किया, वहीं आकर पंचतत्व में विलीन हुए नितिन मनमोहन

Share this post

लाडला, बोल राधा बोल और दस जैसी चर्चित फिल्मों के निर्माता नितिन मनमोहन का अंतिम सफर आज वहीं आकर खत्म हुआ जिसके ठीक सामने स्थित दफ्तर से उन्होंने बतौर निर्माता अपने करियर का आगाज किया था। जी हां, कम लोगों को ही पता होगा लेकिन नितिन मनमोहन का पहला दफ्तर मुंबई में सांताक्रूज श्मशान भूमि के ठीक सामने ही खुला था। इसी दफ्तर के सामने की श्मशान भूमिल में नितिन पंचतत्व में विलीन हो गए। हिंदी सिनेमा के गिनती के चेहरे उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए। नितिन के कुछ बुजुर्ग प्रशंसक भी यहां मिले, जिन्हें नितिन एक निर्माता के तौर पर कम और एक अभिनेता के तौर पर अधिक याद आए। फिल्म निर्माता नितिन मनमोहन का शुक्रवार को सांताक्रूज श्मशान भूमि में अंतिम संस्कार कर दिया गया। 29 दिसंबर को नितिन मनमोहन का निधन दिल का दौरा पड़ने से 62 साल की उम्र में हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे और कुछ हफ्ते पहले ही उन्हें कोकिलाबेन अस्पताल में भी दाखिल कराया गया था। नितिन के अंतिम संस्कार में अभिनेता फरदीन खान, किरण कुमार, निर्माता निर्देशक मेहुल कुमार, निर्देशक गुड्डू धनोवा, निर्देशक आशु त्रिखा व नितिन मनमोहन के कुछ नजदीकी रिश्तेदार शामिल हुए। उनकी पत्नी रीता, बेटे सोहम और बेटी प्राची इस दौरान बार बार अपना धीरज खोते नजर आए। उन्हें नितिन के मित्र लगातार सांत्वना देते रहे। कम लोग ही जानते होंगे कि नितिन मनमोहन एक फिल्म निर्माता तो बाद में बने। उन्होंने तमाम सुपरहिट फिल्मों में सहायक भूमिकाएं भी निभाई हैं। अपने पिता मनमोहन कृष्ण के नक्शे कदम नितिन ने बतौर अभिनेता बेहतरीन पारी खेली है। लोगों को उनकी तलवारनुमा मूंछें और कंधे पर पड़ी बेल्ट वाली पैंट खूब याद आई। अंतिम संस्कार में उनके धारावाहिक ‘भारत के शहीद’ की भी लोग चर्चा करते दिखे। इस धारावाहिक में नितिन ने चंद्रशेखर आजाद का किरदार निभाया था। नितिन मनमोहन को 3 दिसंबर 2022 को दिल का दौरा पड़ने के बाद कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत काफी गंभीर थी और उन्हें वेंटिलेटर पर भी रखा गया था। दवाइयों का असर होने के बाद भी वह खतरे से बाहर नहीं थे। और 29 दिसंबर गुरुवार को उनका निधन हो गया। उनके बेटे सोहम दुबई में रहते हैं, उनके आने के बाद आज नितिन मनमोहन का अंतिम संस्कार किया बोल राधा बोल’, ‘रेडी’, ‘लाडला’, ‘यमला पगला दिवाना’ और ‘दस’ जैसी सफल फिल्मों के निर्माता नितिन मनमोहन का ताल्लुक जमशेदपुर (झारखंड) से रहा है। निर्देशक मुकुल आनंद के निधन के बाद उनकी सलमान खान और संजय दत्त के साथ प्रस्तावित फिल्म दस बीच में ही बंद हो गई थी और इसके चलते उन्हें बहुत तगड़ा नुकसान उठाना पड़ा था। नितिन ने अनिल कपूर के साथ भी एक फिल्म बस कंडक्टर के नाम से शुरू की थी लेकिन मुहूर्त होने के बाद वह भी बंद हो गई।

Report- Akanksha Dixit.

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live