भारत जोड़ो यात्रा की अब ‘अग्निपरीक्षा’, मुश्किल राज्यों में कई हैं चुनौतियां; कांग्रेस ने बताई प्लानिंग

Share this post

जयराम रमेश ने बताया कि राहुल गांधी के नेतृत्व में चल रही यह यात्रा अब कठिन राज्यों की तरफ बढ़ रही है। इन राज्यों में महाराष्ट्र और तेलंगाना समेत जम्मू कश्मीर राज्य भी शामिल हैं। डेढ़ माह पहले तमिलनाडु से शुरू हुई भारत जोड़ो यात्रा की अग्निपरीक्षा शुरू होने वाली है। पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने बताया कि राहुल गांधी के नेतृत्व में भारत जोड़ो यात्रा अब कठिन राज्यों की तरफ बढ़ रही है। इससे उनके कहने का अर्थ महाराष्ट्र और तेलंगाना और जम्मू कश्मीर राज्य से है। तेलंगाना में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। महाराष्ट्र में नगर निगम चुनाव नजदीक हैं। वहीं, गुलाम नबी आजाद के पार्टी छोड़ने और कश्मीर में अपनी पैठ जमाने के बाद कांग्रेस के लिए यह यात्रा बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है। कांग्रेस की तेलंगाना पर खास पैदल मार्च की भी योजना है। जयराम रमेश ने कहा कि अगले 50 दिनों में मिड और नॉर्थ स्टेट कवर करना बड़ी चुनौती है। 20 फरवरी को यात्रा कश्मीर पहुंचेगी।
भारत जोड़ो यात्रा दिसंबर महीने में मध्यप्रदेश पहुंचेगी। यहां पार्टी का फोकस 26 विधानसभा सीटों पर होगा। अक्टूबर के अंत तक यात्रा तेलंगाना में रहेगी। अगले साल यहां विधानसभा चुनाव होने हैं। पार्टी यहां विधानसभा के अलावा लोकसभा चुनाव पर भी फोकस कर रही है। महाराष्ट्र में अघाड़ी सरकार के गिरने के बाद कांग्रेस के लिए खुद के दम पर खड़ा होना बड़ी चुनौती है। बीएमसी चुनाव में कांग्रेस अच्छा प्रदर्शन करना चाहती है। भारत जोड़ो यात्रा के दम पर कांग्रेस यहां वोटर्स को प्रभावित कर सकती है। जम्मू कश्मीर भारत जोड़ो यात्रा के लिए सबसे बड़ी चुनौती में से एक है। हाल ही में गुलाम नबी आजाद के पार्टी छोड़ने के बाद कांग्रेस के लिए कश्मीर में फिर से खड़ा होना बड़ा टास्क है। क्योंकि आजाद कश्मीर में अपने कुनबे को मजबूत करने में जुटे हैं। 20 फरवरी या इससे पहले यात्रा कश्मीर में पहुंच जाएगी।
जयराम रमेश ने कहा कि विभिन्न 50 संगठनों ने राहुल गांधी से मुलाकात की है और कंधे से कंधा मिलाकर यात्रा को आगे बढ़ाया है। इन संगठनों ने किसानों के मुद्दों, बेरोजगारी, जीएसटी के कारण बंद हुए छोटे व्यवसायों और महंगाई पर चिंता जताई
अब तक चार बड़ी जनसभाएं और करीब 35 छोटी सभाएं की जा चुकी हैं। उन्होंने यह भी बताया कि अभियान का एक तिहाई पूरा हो चुका है और इसी गति के साथ यात्रा 20 फरवरी या उससे पहले अंतिम गंतव्य कश्मीर तक पहुंच जाएगी। उन्होंने कहा कि “हम अब मुश्किल राज्यों की ओर बढ़ रहे हैं”
जयराम रमेश ने कहा कि मध्य और उत्तरी भारत के हिस्से अगले 50 दिनों में कवर किए जाएंगे। केरल, कर्नाटक या तेलंगाना की तुलना में हमारे पास वहां संगठनात्मक ताकत नहीं है। आंध्र प्रदेश में जनता के प्रदर्शन दर को देखते हुए जहां हमारा केवल 2% वोट शेयर है। मुझे उम्मीद है कि भारत जोड़ी यात्रा इन राज्यों में उत्साह पैदा करेगी।
27 अक्टूबर को तेलंगाना में फिर से पैदल मार्च शुरू किया जाएगा। इसमें महबूबनगर जिला शामिल है। यह यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश से होते हुए अब तक कुल 18 जिलों को कवर करते हुए तेलंगाना पहुंची है। यह राज्य के आठ जिलों को कवर करेगा।

Report- Akanksha Dixit.

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live