बीजेपी ने माहौल बिगाड़ा, बेहिजाब होने से आवारगी बढ़ेगी, सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क

Share this post

सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क एक फिर अपने बयान से चर्चा में हैं। उन्होंने हिजाब मामले में विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी माहौल बिगाड़ रही है। लड़कियां बेपर्दा घूमेंगी तो आवारगी बढ़ेगी। विवादों में रहने वाले उत्तर प्रदेश संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क एक बार फिर अपने बयान से चर्चा में हैं। उन्होंने हिजाब मामले में विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी माहौल बिगाड़ रही है। लड़कियां बेपर्दा घूमेंगी तो इससे आवारगी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि हिजाब पर बैन लगता है तो न सिर्फ इस्लाम को बल्कि समाज को भी नुकसान होगा।
हिजाब मामले में सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की बेंच के फैसले को लेकर संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जिसने हिजाब के पक्ष में फैसला दिया है मैं उसको मानता हूं। बर्क ने कहा कि कर्नाटक सरकार इस पर भले ही हिजाब पर बैन लगा रही है लेकिन यह हमारा मजहबी और इस्लाम का मामला है। इस्लाम कहता है कि हमारे बच्चों को पर्दे में रहना चाहिए। हिजाब बहुत सी बुराइयों से अलग कर देता है और यही बुराइयों से बचने का रास्ता भी है। उन्होंने कहा कि बेहिजाब होने से हर समय बहुत सी बुराइयां पैदा होती है और समाज के अंदर भी बिगाड़ पैदा होता है। सरकार अपने हिसाब से अपने कानून में कुछ भी करें लेकिन मुसलमानों पर और इस्लाम के मानने वालों पर किसी तरह की पाबंदी न लगाए। इस मामले में आजाद छोड़ना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सांसद बर्क ने कहा कि मेरी गुजारिश है कि अभी इस मामले पर रिकंसीडर करने की जरूरत है। और रिकंसीडर करने के लिए करने के लिए दोनों जज एक जगह बैठ कर राय करें कि दोनों में सही बात कौन सी है।
दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में आज हिजाब विवाद पर फैसला नहीं हो सका। दो जजों की बेंच ने इस मामले पर अलग-अलग प्रतिक्रिया दी है। इसके बाद इस केस को तीन जजों की पीठ में सुनवाई के लिए भेज दिया गया है। जस्टिस हेमंत गुप्ता ने अपने फैसले में कर्नाटक सरकार द्वारा स्कूल-कॉलेजों में लगाए गए हिजाब बैन को सही ठहराया है।
वहीं कर्नाटक हिजाब मामले में उत्तर प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहाकि कोर्ट के आदेश का सम्मान है। कोर्ट के आदेश पर हम किसी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। स्कूलों में ड्रेस कोड निर्धारित है। स्टूडेंट वही ड्रेस पहन सकते हैं। न्यायालय का जो फैसला होगा वह सर्वमान्य होगा। उत्तर प्रदेश सरकार के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने हिजाब मामले में न्यायालय का जो फैसला आया है उसका सम्मान है। उत्तर प्रदेश में किसी भी हाल में कानून व्यवस्था नहीं बिगड़ने देंगे। गुंडे माफिया अराजक तत्वों पर पूरी तरह से नकेल कसी जाएगी। सरकार की तरफ से पेशेवर अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है।
जानें पूरा मामला
हिजाब विवाद की शुरुआत उडुपी के एक महिला कॉलेज से हुई थी, जहां कुछ छात्राओं को प्रिंसिपल और स्टाफ ने हिजाब पहनकर क्लास में जाने से रोका था। इसके बाद छात्राओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया था और फिर देखते ही देखते कर्नाटक के अन्य हिस्सों और देश के दूसरे राज्यों में भी हिजाब को लेकर विवाद शुरू हो गया था। कॉलेज प्रशासन का कहना था कि अचानक ही कुछ छात्राओं ने हिजाब पहनकर कॉलेज आना शुरू किया था, जबकि उससे पहले इसे लेकर कोई विवाद नहीं थी।

Report- Akanksha Dixit.

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live