गहलोत के खेलमंत्री अशोक चांदना पर कर्नल बैंसला के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में जूते फेंके, सचिन पायलट जिंदाबदा के लगे नारे

Share this post

राजस्थान में खेलमंत्री अशोक चांदना की ओर जूता उछाला गया है। कार्यक्रम में समर्थक पायलट जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में पायलट जिंदाबाद के नारे लगे। राजस्थान में खेलमंत्री अशोक चांदना की ओर जूता उछाला गया है। कार्यक्रम में समर्थक पायलट जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। दरअसल, आज गुर्जर आरक्षण आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अस्थियों का विसर्जन पुष्कर के 52 घाटों पर सोमवार शाम करीब चार बजे शुरू हुआ। पुष्कर के मेला ग्राउंड में एमबीसी समाज की सभा में जैसे ही मंत्री अशोक चांदना भाषण देने के लिए आए लोगों ने जूते और अन्य सामान फेंकना शुरू कर दिया। सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए। कार्यक्रम में अशोक चांदना के विरोध में नारे लगे। मंच पर जैसे ही अशोक चांदना भाषण देने के लिए आए उपस्थित भीड़ ने नारेबाजी शुरू कर दी। खेलमंत्री अशोक चांदना की तरीफ जूते और अन्य सामान फेकें गए। पायलट समर्थकों ने हंगामा खड़़ा कर दिया। पुलिस ने लोगों को शांत कराया लेकिन पायलट समर्थक माने नहीं। खेलमंत्री अशोक चांदना को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा। उद्योग मंत्री शकुंतला रावत जैसे ही मंच पर भाषण देने के लिए आई तो पायलट समर्थकों ने उसका भी विरोध करना शुरू कर दिया। मंत्री शकुंतला रावत ने करौली में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के नाम पर कॉलेज खोलने की घोषणा की लेकिन समर्थकों ने उनको भाषण नहीं देने दिया। कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी, सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत, आरटीडीसी चेयरमैन धर्मेन्द्रसिंह राठौड़, भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश भडाणा, विधायक वासुदेव देवनानी आदि भी पहुंचे हैं। समारोह में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट नहीं पहुंच पाए हैं। इस दौरान कर्नल बैंसला जिंदाबाद के भी नारे लगातार लगते रहे। पायलट समर्थक नारे लगाते हुए मंच की तरफ बढ़े तो हंगामा शुरू हो गया। पुलिस ने बमुश्किल खदेड़कर माहौल शांत किया।
उल्लेखनीय है कि पायलट समर्थक इस बात से नाराज है कि पायलट गुट की बगावत के समय खेलमंत्री अशोक चांदना ने समाज के सचिन पायलट का साथ नहीं दिया। वरना आज सचिन पायलट राजस्थान के मुख्यमंत्री होते। वर्ष 2020 में पायलट की बगावत के समय अशोक चांदना ने गहलोत कैंप का साथ दिया था। बस पायलट समर्थक इसी बात से नाराज है। हाल ही में टोंक जिले में देवनारायण जयंती के कार्यक्रम में कोटपूतली विधायक इंद्राज गुर्जर ने अशोक चांदना का नाम लिए बिना उन्हें गद्दार बताया था। इंद्राज गुर्जर ने कहा कि समाज के गद्दारों को चुनाव में सबक सिखाएंगे। पायलट समर्थक विधायक वेदप्रकाश सोलंकी भी सीएम गहलोत पर निशाना साध चुके हैं।

Report- Akanksha Dixit.

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live