मैंने अपना जवाब दे दिया, अब जिनकी बारी वे बताएं…सियासी संकट के बीच बोले हेमंत सोरेन

Share this post

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधानसभा सदस्यता पर सस्पेंस बरकरार है। इसी बीच उन्होंने कहा कि राजभवन से कोई फैसला आने पर वह अपना जवाब देंगे। फिलहाल आगे क्या होगा इसपर वे कुछ कह नहीं सकते। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उनकी विधानसभा सदस्यता पर राज्यपाल के फैसले के इंतजार से जुड़े सवाल पर कहा कि यह सवाल उनसे (राज्यपाल) से पूछा जाना चाहिये। यह जवाब देना उनकी जिम्मेदारी है। उधर (राजभवन) से कोई निर्णय आने पर वह अपना जवाब देंगे। आगे क्या होगा यह वह नहीं कह सकते। विधानसभा उनके और हर विधायक के लिये क्लास रूम है। इसलिए उन्होंने वहां पूरी बात कही। सभी विधायकों को सदन में बोलना चाहिए। वे बुधवार को मीडिया से बातचीत कर रहे थे। पुरानी पेंशन योजना लागू करने पर उनके प्रति आभार प्रकट करने के लिये आयोजित कार्यक्रम के बाद सीएम ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि उन्हें जो कहना था वह सदन में कह चुके हैं। अब बोलने की बारी जनता की है। राज्य में सियासी संशय की स्थिति के बीच यूपीए प्रतिनिधिमंडल से भेंट के दौरान राज्यपाल ने जल्द निर्णय लेने की बात कही थी, लेकिन इंतजार जारी रहने के सवाल पर सीएम ने कहा कि यह सवाल जिन्हें निर्णय लेना है उनसे पूछना चाहिए।
बता दें कि मुख्यमंत्री ने सोमवार को विधानसभा के विशेष सत्र में बहुमत साबित किया। अब उनकी विधानसभा सदस्यता पर राज्यपाल को अपना फैसला लेना है। सीएम के नाम खनन लीज मामले में भाजपा की शिकायत पर राज्यपाल के परामर्श मांगने के बाद सुनवाई पूरी करके चुनाव आयोग ने मंतव्य राजभवन को पिछले 25 अगस्त को सौंपा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा, ‘विधानसभा हर विधायक के लिए क्लास रूम है। इसलिए मैंने वहां पूरी बात कही। सियासी संशय पर अब जवाब वही देंगे जो इसके जिम्मेदार हैं।’

Report- Akanksha Dixit.

Akanksha Dixit
Author: Akanksha Dixit

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live