शिवपाल बोले- नेताजी को ISI एजेंट कहने वाले को वोट नहीं दूंगा

Share this post

राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए आज जारी मतदान के बीच वोट देने पहुंचे शिवपाल यादव ने कहा कि वे नेताजी को ISI एजेंट कहने वाले को वोट नहीं देंगे। उन्‍होंने इस बारे में अखिलेश यादव खुली चिट्ठी भी लिखी थी। समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव को खुली चिट्ठी लिखकर यशवंत सिन्‍हा के समर्थन पर पुनर्विचार करने की मांग कर चुके उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव ने सोमवार को दो टूक कहा कि व‍ह नेताजी (मुलायम सिंह यादव) को आईएसआई एजेंट कहने वाले को वोट नहीं देंगे।
गौरतलब है कि हाल ही में उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने एक अखबार की पुरानी कतरन पोस्‍ट कर विपक्ष के राष्‍ट्रपति पद उम्‍मीदवार यशवंत सिन्‍हा एक पुराने बयान का हवाला देते हुए अखिलेश द्वारा उनका समर्थन किए जाने पर सवाल उठाया था। उस बयान में यशवंत सिन्‍हा ने मुलायम सिंह यादव को आईएसआई का एजेंट बताया था।
राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए आज मतदान करने पहुंचे शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी पर यशवंत सिन्हा की आपत्तिजनक टिप्पणी से कई विधायक नाराज हैं। जो भी लोग नेताजी के साथ रहे हैं। उनकी विचारधारा से जुड़े हैं वे कभी भी उनके खिलाफ टिप्‍पणी करने वालों के साथ नहीं जाएंगे। वे अपनी नाराजगी वोट से दिखा सकते हैं। बता दें कि इसके पहले शिवपाल यादव, सीएम योगी आदित्‍यनाथ द्वारा एनडीए कैंडिडेट द्रौपदी मुर्मू के सम्‍मान में आयोजित डिनर में भी शामिल हुए थे।
उस डिनर डिप्‍लोमेसी में सुभासपा चीफ ओमप्रकाश राजभर और शिवपाल की मौजूदगी को लेकर कहा जाने लगा था बीजेपी ने विपक्ष में सेंध लगा दी है। सोमवार को इस डिनर डिप्‍लोमेसी का अंजाम नजर भी आया। ओमप्रकाश राजभर ने जहां अपने विधायकों के साथ पहुंचकर राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए वोट देने के बाद डिप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक के साथ विक्‍ट्री साइन बनाते तस्वीरें खिंचवाईं तो वहीं शिवपाल सिंह यादव ने भी साफ-साफ कह दिया कि वे यशवंत सिन्‍हा को वोट नहीं देंगे।
बता दें कि इसके पहले उन्‍होंने अखिलेश यादव के नाम एक खुली चिट्ठी में लिखा था-‘सपा के वर्तमान नेतृत्व ने राष्ट्रपति चुनाव में उस व्यक्ति का समर्थन किया है, जिसने हम सभी के अभिभावक और प्रेरणा और ऊर्जा के स्रोत आदरणीय नेताजी को ‘आईएसआई’ का एजेंट बताया था। पार्टी नेतृत्व के इस फैसले के विरुद्ध मेरी घोर असहमति है। नेताजी के अपमान की शर्त पर कोई फैसला मंजूर नहीं।’
चिट्ठी में शिवपाल ने आगे लिखा यह नियति की अजीब विडम्‍बना है कि समाजवादी पार्टी ने राष्‍ट्रपति चुनाव में ऐसे व्‍यक्‍ति का समर्थन किया। दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि समाजवादी पार्टी को राष्‍ट्रपति प्रत्‍याशी के तौर पर एक अदद समाजवादी विरासत वाला नाम न मिला। यह कहते हुए मुझे दु:ख और क्षोभ हो रहा है कि जो समाजवादी कभी नेताजी के अपमान पर आग बबूला हो जाते थे, आज उसी विरासत के लोग नेताजी को अपमानित करने वलो व्‍यक्ति का राष्‍ट्रपति चुनाव में समर्थन कर रहे हैं।
ऐसा लगने लगा है कि पूरी पार्टी मजाक का पात्र बनकर रह गई है। शिवपाल ने अंत में अखिलेश यादव को सम्‍बोधित करते हुए लिखा-‘प्रिय अखिलेश जी, मुझे अपनी सीमाएं पता हैं, आप समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष हैं।
उधर, अखिलेश यादव ने शिवपाल सिंह यादव के विरोध के बारे में पूछे जाने पर कहा कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के लिए बीजेपी ऐसी भाषा बोलती आई है। बीजेपी का चरित्र है कि वो सेकुलर और सोशलिस्‍ट लड़ाई लड़ने वालों के लिए इसी तरह की भाषा का इस्‍तेमाल करती है। उन्‍होंने कहा कि आज उन्‍होंने लोकतंत्र को बचाने के लिए यशवंत सिन्‍हा को वोट दिया है। देश में एक ऐसे राष्‍ट्रपति की जरूरत है जो अर्थव्‍यवस्‍था के मोर्चे पर सरकार को समय-समय पर सही मार्गदर्शन दे सके। श्रीलंका के हालात सबके सामने हैं।
अखिलेश यादव के बयान पर पलटवार करते हुए डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इसका मतलब है कि अखिलेश यादव अपने पिताजी के लिए ऐसी भाषा सुनना पसंद करते हैं। हम मानते हैं कि मुलायम सिंह यादव ने रामभक्‍तों पर गोली चलवाने का आदेश दिया था लेकिन वे आईएसआई के एजेंट नहीं हो सकते।

Report- Akanksha Dixit.

uv24news
Author: uv24news

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live