यशवंत सिन्हा लखनऊ में बोले-देश को खामोश राष्ट्रपति नहीं चाहिए, बड़ी घटनाओं पर भी चुप रहते हैं पीएम

Share this post

राष्ट्रपति चुनाव के लिए कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष के कैंडिडेट यशवंत सिन्हा ने लखनऊ में गुरुवार को कहा कि देश में जो हालात हैं उसमें भारत को खामोश राष्ट्रपति नहीं चाहिए। पीएम पर भी निशाना साधा।
राष्ट्रपति चुनाव के लिए कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष के कैंडिडेट यशवंत सिन्हा ने लखनऊ में गुरुवार को कहा कि देश में जो हालात हैं उसमें भारत को खामोश राष्ट्रपति नहीं चाहिए। यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति चुने जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से टकराव नहीं चाहने की बात की लेकिन कहा कि बड़ी-बड़ी घटनाएं हो रही हैं लेकिन पीएम चुप हैं। लखनऊ में यशवंत सिन्हा के कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और आरएलडी नेता जयंत चौधरी शामिल हुए लेकिन एसबीएसपी नेता ओम प्रकाश राजभर इससे दूर रहे। राजभर और अखिलेश यादव के बीच इन दिनों तीखी बयानबाजी चल रही है। वहीं अखिलेश ने कहा कि राष्ट्रपति पद के लिये यशवंत सिन्हा से बेहतर कोई प्रत्याशी नहीं है।
यशवंत सिन्हा ने कहा कि देश व समाज मे अशान्त माहौल है। हुकुमत चाहती है कि लोग बंटे रहें। यह वोट की राजनीति कहां लेकर जाएगी। अगर राष्ट्रपति चुना गया तो केवल संविधान के प्रति जवाबदेह रहूंगा। इसका मतलब यह नहीं कि मैं प्रधानमंत्री से टकराव चाहूंगा। साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण को रोकूंगा। प्रेस की स्वतंत्रता के लिये काम करूंगा।
सिन्हा ने कहा कि इस बार का राष्ट्रपति का चुनाव बहुत अलग हालात में हो रहा है। आज के हालात पूरे देश मे अलग हैं। बड़ी बड़ी घटनाएं हो जाती है लेकिन देश के प्रधानमंत्री कुछ बोलते नही हैं। आज एक असाधारण हालात बन गए हैं, ऐसे चलता रहा तो एक दिन संविधान नष्ट हो जायेगा। भारत को आज के दिन खामोश राष्ट्रपति नहीं चाहिये, बल्कि एक ऐसा व्यक्ति चाहिए जो हालातों को समझ सकें और निपट सके।
उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने लखनऊ को अपनी कर्मभूमि बनाया लेकिन अफसोस है कि आप उनकी पार्टी कहां से कहां पहुंच गई। इस बार का चुनाव असाधारण किस्म का चुनाव है। वह इसलिए कि समाज दो तीन हिस्सों में बट गया है। बड़ी घटना पर पीएम चुप हो जाते है। देश में अशांत और असाधारण स्थिति है। संविधान का मूल्य खत्म किया जा रहा है। यही चलता रहा तो एक दिन संविधान खत्म हो जाएगा। ऐसे में नागरिक कहीं न्याय के लिए नहीं जा पायेगा। आज कहीं पर भी लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है।
कहा कि धारा 370 का मामला कोर्ट में गया। उसकी सुनवाई कब होगी, नहीं पता। एनआरसीए का मामला भी पेंडिग है। जस्टिस डिलीट मतलब जस्टिस डिनाई। वोट की राजनीति कहां तक ले जाना चाहते हैं। किस हद तक ले जाना चाहते हैं। यह समझना होगा। जो भी राष्ट्रपति भवन जाएगा उसे संविधान का पालन करना होगा लेकिन उस पद की गरिमा से कर पाएगा, इसका ध्यान रखना होगा।

Report- Akanksha Dixit.

uv24news
Author: uv24news

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live