स्वास्थ्य केंद्रों पर होगी प्रत्येक गर्भवती की टीबी जांच
-प्रदेश में प्रति वर्ष आठ हजार गर्भवतियों में टीबी के लक्षण पाए जाते हैं

Share this post

  • गर्भवती की सिंप्टोमेटिक स्क्रीनिंग शुरू कराई जाएगी

फिरोजाबाद, 06 जुलाई 2022 l
राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त बनाने के लिए अब अन्य जांचों की तरह गर्भवती को टीबी की जांच भी जरूर करानी होगी l राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक अपर्णा यादव ने सीएमओ को गर्भवतियों की टीबी प्रबंधन के लिए निर्देश दिए हैं l
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश कुमार प्रेमी ने बताया कि प्रदेश में प्रति वर्ष आठ हजार गर्भवतीयों में टीबी के लक्षण पाए जाते हैं l फरवरी 2022 में 15 से 49 वर्ष की युवती व महिलाओं के लिए सामूहिक टीबी प्रबंधन का फ्रेमवर्क तैयार किया गया था l उन्होंने बताया निर्देश दिया गया है कि आंगनबाड़ी केंद्र, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टीबी गर्भवतियों की सिंप्टोमेटिक स्क्रीनिंग कराई जाएगी l
उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि सिंप्टोमेटिक स्क्रीनिंग के तहत गर्भवतियों को देखा जाए कि उनको दो सप्ताह से खांसी तो नहीं l दो सप्ताह से बुखार, लगातार वजन कम होने व रात में पसीना आने जैसे लक्षण मिलने पर उन्हें टीबी जांच केंद्रों पर रेफर किया जाएगा | इसकी समीक्षा एचआईएमएस व नि:क्षय पोर्टल पर दर्ज होगी l इस तरह के लक्षण दिखाई दे तो अपनी जांच अवश्य करवाएं l

जिला कार्यक्रम समन्वयक आस्था तोमर ने बताया कि निर्देश के अनुसार कार्य किया जा रहा है l गर्भवती की जांच के पश्चात टीबी की पुष्टि होती है तो तुरंत उपचार शुरू कर दिया जाएगा और नि:क्षय पोषण योजना से भी जोड़ दिया जाएगा l

uv24news
Author: uv24news

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Radio Live